Wednesday, December 13, 2017

क्या तुमने कभी देखा है ......अरशद अली ( एक कविता)





क्या तुमने कभी देखा है ......
नए ज़न्मे बच्चे को देखते हुए
माँ-बाप को
उसमे जो दिखता है ...
वो ख़ुशी है

और ख़ुशी,गम को दूर कर देती है












क्या तुमने कभी देखा है
घोड़ों को सपाट धरती पर
दौड़ते हुए
उसमे जो दिखता है ...
वो स्फूर्ति है

और स्फूर्ति,आलस को दूर कर देती है.








क्या तुमने कभी देखा है ...
बरसात में अन्कुराते हुए
नए बीजों को
उसमे जो दिखता है
वो ज़िन्दगी है

और ज़िन्दगी,मौत को करीब कर देती है.


====अरशद अली====

3 comments:

PRITY KUMARI said...

Bahut achhi line hai

lokhindi said...

अत्ति सूंदर रचना, शेयर करने की लिए आप का बहुत-बहुत धन्यवाद !
कुछ हमारे लेखो को भी देखिये : Moral Stories

Unknown said...

Věřý ňìčě